कोरोना की तीसरी लहर क्या देश में का आनी तय है ?

0
25
कोरोना वायरस

देश में कोरोना की तीसरी लहर का आना तय है ? कितनी खतरनाक होगी यह लहर ? 

हम बीते कुछ महीनों से कोरोना की दूसरी लहर का दंश झेल रहे है। इसी बीच यह खबर आ रही है देश को तीसरी लहर का समाना करना पड़ सकता है। आज हम बात करने वाले है इस तीसरी लहर की। यह कितनी खतरनाक होगी और सबसे ज्यादा असर किसको होगा ? आपके मन में उठ रहे कुछ सवालों के जवाब इस पोस्ट में खोजने की कोशिश करेंगे। 

यह भी पढ़े : रामदेव के खिलाफ डॉक्टरों का विरोध प्रदर्शन शुरू , बाबा को गिरफ्तार करने की मांग के पोस्टर गले में लटकाये।

तो आइये जानते है इस तीसरी लहर से जुडी कुछ बेहद जरूरी जानकारी – 

एक लहर के बाद अगली लहर कब आएगी इसकी ठोस जानकरी कोई नहीं दे सकता है। इन सभी लहरों के बारे में बस अनुमान ही लगाया जा सकता है की एक लहर के अगली लहर कब आएगी। कुछ विशेषज्ञों ने अनुमान लगाया है कि देश में तीसरी लहर नवंबर तक आएगी। क्योकि एक लहर के बाद अगली लहर आने में कम से कम 5 महीनों का वक़्त लगता है।

क्या तीसरी लहर का आना तय है ?

इस सवाल पर अलग – अलग एक्सपर्ट अपनी अलग राय देते है। लेकिन एक्सपर्ट का मानना है कि अहम तीसरी लहर से बच सकते है। प्रिंसिपल साइंटिफिक एडवाइजर के. विजयराघवन ने बताया कि अगर लोग बचाव करे और नियमों का सख्ती से पालन करे तो हम तीसरी लहर आने से बचा सकते है।

यह भी पढ़े : कांग्रेस ने केजरीवाल सरकार पर उठाये सवाल , कहा 250 कोरोना योद्धाओं की गयी जान सिर्फ 15 को ही दिए 1 करोड़।

कितनी खरतनाक होगी तीसरी लहर ? 

जिस हिसाब से हमने दोनों लहर देखे है उसका आकलन करने के बाद यह लहर खतरनाक हो सकती है। पहली लहर में संक्रमण का दर दूसरी लहर कि तुलना में कम था। इसलिए यह अनुमान लगाया गया है आने वाली तीसरी लहर मौजदा लहरे से ज्यादा खतरनाक हो सकती है।

तीसरी लहर किसको करेगी ज्यादा प्रभावित ?

अगर हम पहली लहर कि बात करे तो इसमें ज्यादा प्रभावित बुजुर्ग लोग हुए थे। वही दूसरी लहर में युवाओ को ज्यादा संक्रमण हुआ। इसके हिसाब से अनुमान लगाया गया कि तीसरी लहर में बच्चों को ज्यादा खतरा होने कि संभावना है। 

यह भी पढ़े : दबे पाँव कही कोरोना की तीसरी लहर ने दस्तक तो नहीं दे दी ? महाराष्ट्र में हजारों बच्चे हुए कोरोना से संक्रमित।