पीएम मोदी से मिलने 30 मिनट लेट पहुंचने कि वजह ममता बनर्जी ने बताई, मुझे बदनाम करने कि कोशिश कि जा रही है।

0
30

भारत को कृषि प्रधान देश न बोल कर मुझे लगता है भारत को राजनीती प्रधान देश बोलना ठीक रहेगा। ये मई इसलिए बोल रहा हूँ कि आजादी के बाद किसान तो विकास नहीं कर पाए लेकिन नेता दिन दुनि रात चौगुनी विकास किये है , और हर बात में राजनीती करने कि कोशिश करने लगते है। कुक ऐसा ही हुआ कल बंगाल में पीएम मोदी के दौरे के समय जब ममता बनर्जी मीटिंग में लेट पहुंची।

पीएम मोदी यास तूफ़ान से हुए नुकसान का जायजा लेने शुक्रवार को बंगाल गए थे। पीएम मोदी ने बंगाल में यास तूफ़ान से हुए नुकसान का हवाई सर्वे भी किया। उसके उनकी बंगाल कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के साथ बैठक होनी थी। इसी बैठक में बताया जा रहा है कि मोदी के पहुंचने के 30 मिनट कि देरी से पहुंची जिसको लेकर भारत में राजनीति शुरू हो गयी है।

वही ममता बनर्जी ने पलटवार करते हुए कहा कि मैं समय से पहुंच गयी थी लेकिन पीएम कि सुरक्षा में लगे SPG के जवानों ने मुझे एक घंटे रुकने को बोला था। ममता ने सफाई देते हुए कहा कि हर बार पीएम को एयरपोर्ट पर रिसीव करने जाना मुख्यमंत्री के लिए जरूरी हो ऐसा जरूरी नहीं है। कभी – कभी कुछ राजनितिक तमाशा भी होता है। ममता ने बोला कि मुझे खुद पीएम मोदी के लिए इन्तजार करना पड़ा। जब मैं पहुंची तो मुझे पता चला कि मुझे 20 मिनट और इन्तजार करना पड़ेगा क्योकि पीएम मोदी का हेलीकाप्टर का उतरना बाकी था।

पीएम मोदी कि सुरक्षा के वजह से 15 मिनट तक ज्यादा हवा में उड़ना पड़ा लेकिन इसको लेके मुझे कोई आपत्ति नहीं है क्योकि यह पीएम के सुरक्षा का सवाल था। इसके बाद जब हम पहुंचे तो पीएम मोदी पहले से ही वह मौजूद थे। मैं अपने मुख्य सचिव को साथ लेकर गयी थी लेकिन जब मीटिंग वाले स्थान पर पहुंचे तो हमे एक घण्टे इन्तजार करने को बोला गया था।