शिरोमणी अकाली दल और बसपा के बीच हुआ गठबंधन, सीटों का बंटवारा भी तय।

0
48
शिरोमणी अकाली दल

2022 चुनाव के लिए अकाली दल और बसपा आये एक साथ

पंजाब में होने वाले विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए एक नया समीकरण सामने आ रहा है आने वाले साल 2022 में पंजाब में विधानसभा चुनाव होना है। उस चुनाव की तैयारियों को देखते हुए सुखबीर सिंह बादल के शिरोमणी अकाली दल ने मायावती की बहुजन समाज पार्टी से गठबंधन किया है।

यह भी पढ़े : धारा 370 पर एक बार फिर छलका दिग्विजय सिंह का दर्द, कहा धारा 370 हटाना अत्यंत दुखद निर्णय।

आपको बता दें कि पिछले चुनाव में अकाली दल ने भाजपा के साथ गठबंधन किया था। इस गठबंधन का ऐलान करते हुए अकाली दल के मुखिया सुखबीर सिंह बादल ने कहा कि शिरोमणी अकाली दल और बसपा 2022 के पंजाब विधानसभा चुनाव को एक साथ लड़ेंगे। 2022 के चुनाव को ध्यान में रखते हुए हमने गठबंधन किया है।

यह भी पढ़े :बीते 24 घंटे में हुआ दूसरा आतंकी हमला, आतंकियों ने पुलिस सीआरपीएफ के जवानों को फिर बनाया निशाना।

बसपा को मिली 20 सीटें

सुखबीर सिंह बादल ने कहा पंजाब की 117 सीटों में से बसपा को 20 सीटें दी गई हैं और शिरोमणी अकाली दल बाकी 97 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। बसपा पंजाब के जिन सीटों पर चुनाव लड़ेगी उनमें जालंधर ,करतारपुर साहिब ,जालंधर पश्चिम, जालंधर उत्तर ,फगवाड़ा ,होशियारपुर अर्बन, दसुया, रूपनगर जिले में चमकौर साहिब, बस्सी पठाना ,पठानकोट में सुजानपुर, मोहाली ,अमृतसर उत्तर और अमृतसर सेंट्रल है।

यह भी पढ़े : मुकुल राय की घर वापसी, दोबारा पहुंचे ममता की शरण में।

पंजाब की राजनीति में एक ऐतिहासिक दिन

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान सुखबीर सिंह बादल ने इस गठबंधन का ऐलान किया और पंजाब की राजनीति का एक ऐतिहासिक दिन बताया। सुखबीर सिंह बादल ने कहा कि पंजाब की राजनीति का यह बड़ा टर्न है। इस प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान बसपा के जनरल सेक्रेटरी सतीश चंद्र मिश्रा भी मौजूद रहे। आपको बता दें शिरोमणी अकाली दल ने पिछले चुनाव में भाजपा के साथ गठबंधन किया था लेकिन कृषि कानूनों के मुद्दे पर अकाली दल ने अपना रास्ता बदल लिया और एनडीए से गठबंधन पर किए समर्थन को वापस ले लिया।

यह भी पढ़े : श्रीलंका दौरे से पहले इंडिया का प्लान, गब्बर को सौंपी कमान