Virat Kohli की तरह Sourav Ganguly नें मिडिया के सामने दिया था, विस्फोटक बयान?

0
3

बुधवार को टीम इंडिया की टेस्ट कप्तान की प्रेस कॉन्फ्रेंस नें भारतीय क्रिकेट में सनसनी मचा दी। विराट कोहली ने बीसीसीआई चीफ सौरव गांगुली के बयानात को बिना नाम लिए गलत बता दिया, कुछ दिन पहले सौरव गांगुली ने कहा था कि उन्होंने विराट कोहली को पर्सनली रिक्वेस्ट किया था. की वो T20 फॉर्मेट की कप्तानी ना छोड़े। लेकिन विराट कोहली ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में दावा किया कि उनकी टी20 कप्तानी छोड़ने के फैसले का स्वागत किया गया था। किसी ने उनको कप्तानी छोड़ने से रोका नहीं विराट कोहली ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बीसीसीआई द्वारा कही गई कई छोटी -बड़ी बातों को अपने जवाबों के जरिए खंडित किया है। इसके बाद से बीसीसीआई कट घरे में आ गई है. इन सबके बीच सौरव गांगुली से जवाब देही की उम्मीद है। आख़िरकार टीम इंडिया के टेस्ट कप्तान विराट कोहली ने खुल्लम खुल्ला उन्हें झूठा करार दिया है, लेकिन क्या आप जानते हैं अपनी कप्तानी के दौर में खुद सौरव गांगुली ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए क्रिकेट जगत में हड़कंप मचा दिया था। यह बात सालों पुरानी है जब जब सौरव गांगुली और टीम इंडिया के पूर्व कोच ग्रेग चैपल का विवाद हुआ था।

Virat Kohli की तरह Sourav Ganguly नें मिडिया के सामने दिया था, विस्फोटक बयान?

कोहली की तरह गांगुली ने दिया था, बयान?

वैसे भी पिछले कुछ दिनों से भारतीय क्रिकेट टीम में जो कुछ चल रहा है उससे सौरव गांगुली और ग्रेग चैपल का विवाद याद आता है। ग्रेग चैपल को टीम इंडिया का कोच मनाने में सबसे बड़ा हाथ उस समय भारतीय टीम की कप्तानी कर रहे सौरव गांगुली का ही था, लेकिन उस समय सौरव गांगुली नहीं जानते थे। कि जिसके लिए वह इतने प्रयास कर रहे हैं. वही 1 दिन उनकी कप्तानी छीनवा देगा। और उन्हें टीम सें बाहर भी कर देगा, साल 2005 में ज़ब टीम इंडिया जिंबाब्वे दौरे पर गई थी तब ये दौरा काफी ज्यादा चर्चा में रहा, जिंबाब्वे के दौरे से पहले सौरव गांगुली की फॉर्म खराब चल रही थी। टेस्ट में उन्होंने 2 सालों से शतक नहीं लगाया था, जिंबाब्वे दौरा एक प्रैक्टिस मैच से शुरू हुआ और सौरव गांगुली के पास प्रैक्टिस मैच में लय हासिल करने का अच्छा मौका था। लेकिन ग्रेग चैपल सौरव गांगुली के पास आए और उन्हें कप्तानी छोड़ कर बल्लेबाजी पर काम करने को कहा इसके बाद ग्रेग चैपल ने टेस्ट मैच पहले एक ऐसा बयान दिया जिसको देखकर सौरव गांगुली बुरी तरह से भड़क गये। ग्रेग चैपल ने कहा था अगर उनका बस चले तो वो सौरव गांगुली की जगह युवराज सिंह और मोहम्मद कैफ जैसे युवा बल्लेबाजों को मौका देंगे।

Virat Kohli की तरह Sourav Ganguly नें मिडिया के सामने दिया था, विस्फोटक बयान?

ग्रेग चैपल के बयान सें बुरी तरह सें भड़के थे गांगुली?

सौरव गांगुली ग्रीग चैपल के इस बयान से बुरी तरह से भड़क गए और उन्होंने जिंबाब्वे दौरा बीच में ही छोड़ने का मन बना लिया। इसके बाद टीम डायरेक्टर अमिताभ चौधरी ग्रेग चैपल और राहुल द्रविड़ नें किसी तरह से सौरव गांगुली को मनाया सौरव गांगुली जिंबम्बे के खिलाफ टेस्ट मैच में खेले और उन्होंने 101 रनों की शतकीय पारी खेली इसके बाद सौरव गांगुली ने मीडिया में बयान दिया कि उन पर कप्तानी छोड़ने का दबाव बनाया जा रहा था, और इसी दबाव के बाद उनके अंदर शतक लगाने का जुनून आया। लेकिन ग्रेग चैपल ने इसके बाद बीसीसीआई को एक ईमेल लिखा था जो बाद में लिक हो गया इसमें उन्होंने यह लिखा था कि सौरव गांगुली आलसी हैं. वो प्रैक्टिस सेशन में नहीं आते टीम के भविष्य को लेकर उनका रवैया काफी नकारात्मक है. साथी साथ चैपल ने यह तक कह डाला सौरभ गांगुली नहीं गिरी का बहाना किया था, ग्रेग चैपल नें एक तरह सौरव गांगुली पर राजनीति करने के आरोप भी लगाए जिसके बाद सौरव गांगुली को मजबूरन कप्तानी छोड़नी पड़ी थी। वो भी सभी फॉर्मेट से विराट कोहली कोहली की कप्तानी से बर्खास्त किया गया।

Virat Kohli की तरह Sourav Ganguly नें मिडिया के सामने दिया था, विस्फोटक बयान?

गांगुली के बाद या पहली बार हुआ है. जब किसी कप्तान को पद से हटाया गया हो गांगुली के बुरे वक्त में उनके साथ बीसीसीआई खा रहा, मगर विराट कोहली अब अलगाव और नफरत के आगोश में अकेले दिखाई दे रहे हैं।