Kangana Ranaut को देश की आजादी पर विवादित बयान देना पड़ा भारी?

कंगना रानाउत की बात और किसी विवाद का जिक्र ना हो ऐसा कैसे हो सकता है। हाल ही में कंगना रानावत ने देश की आजादी पर कुछ ऐसा विवादित बोल दिया की हर तरफ हंगामा मच गया। कंगना रानावत यह कहना 1947 देश को आजादी नहीं भीख मिली थी। देश को असली आजादी 2014 में मिली है। कंगना रानावत की बातें सुनकर हर किसी को गुस्सा आ रहा है। सोशल मीडिया पर कंगना रानावत को खूब ट्रोल किया जा रहा है, कोई कंगना रानावत को दिए गए पदम श्री अवार्ड को सरकार से वापस लेने की मांग कर रहा है। तो कोई कह रहा है कंगना रानावत को देशद्रोह के लिए गिरफ्तार किया जाना चाहिए।

कुणाल कामरा ने कंगना रानावत पर साधा निशाना?

वही अब कॉमेडियन कुणाल कामरा ने भी कंगना रानावत के इस विवादीत बयान पर अपनी प्रतिक्रिया दी है। और एक्ट्रेस पर निशाना साधते हुए उन्हें सेंडराश बता दिया है। दरअसल कुणाल कामरा ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर एक वीडियो शेयर किया जिसमें फिल्म हेरा फेरी का एक सीन दिखाया गया है। वीडियो में पानेस रावल सुनील शेट्टी को शौचालय के पास लाते हैं, उसके बाद जैसे ही शौचालय को खोलते हैं उसमें कंगना रानाउत दिखने लगती है। वीडियो में कंगना राणावत के आजादी पर दिए गए विवादित बयान को दिखाया गया है। इस वीडियो को शेयर करते हुए कुणाल कामरा ने लिखा :- (now who did this) कुणाल कामरा ने अपने इस पोस्ट जरिये कंगना राणावत की तुलना शौचालय से कर दी है। कुणाल कामरा यही नहीं रुके कंगना रानावत पर एक और ट्वीट किया :- (Kangana is right India did get independence from commons sense and rational thinking in 2014)

कंगना रानावत ने क्या कहा?

बता दें कंगना लगातार ट्रोलिंग का शिकार हो रही है। बीच उन्होंने ने खुद एक पोस्ट शेयर करके कहा दिया। कि उन्होंने कुछ भी गलत नहीं कहा है। कंगना रानावत ने पोस्ट शेयर करके कहा :- 1857 में आजादी की लड़ाई लड़ी गई थी, इसमें सुभाष चंद्र बोस रानी लक्ष्मी बाई और वीर सावरकर ने हिस्सा लिया था। लेकिन 1947 में देश की आजादी के लिए कौन सा युद्ध लड़ा गया था? मुझे तो इस बारे में कोई जानकारी नहीं है। अगर कोई मुझे इस बारे में जानकारी दें दें तो मैं माफी मांगी ही साथ ही साथ पदम श्री अवार्ड भी लौटा दूंगी। बताते चलें हाल ही में कंगना रानावत को पदम श्री अवार्ड से सम्मानित किया गया था। जिसके बाद ही उन्होंने आजादी पर विवादित बयान दिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *