उत्तर प्रदेश में भी कोरोना के नए वेरिएंट डेल्टा प्लस का मंडराया खतरा , योगी ने दिए सख़्त आदेश।

उत्तर प्रदेश में मिला डेल्टा प्लस का पहला मामला

भारत में कोरोना वायरस का नया वेरिएंट डेल्टा प्लस तेजी से फैल रहा है। इस नए वेरिएंट का खतरा अब उत्तर प्रदेश में भी मंडराने लगा है। उत्तर प्रदेश में नागपुर से आए एक व्यक्ति में इस नए वेरिएंट डेल्टा प्लस की पुष्टि हुई है। इस नए वेरिएंट की पुष्टि के बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अहम निर्देश दिए हैं।

यह भी पढ़े : JioPhone Next के जाने टॉप फीचर्स के बारे में, दुनिया का सबसे सस्ता स्मार्ट फ़ोन जल्द आएगा बाजार में।

योगी ने दिया निर्देश

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में आने वाले सभी यात्रियों की आरटी पीसीआर जांच कर उनके सैंपल की जिनोम सीक्वेंसिंग कराने का बड़ा निर्देश दिया है। बुधवार को नागपुर से एक व्यक्ति आया जिसमें डेल्टा प्लस वेरिएंट का संक्रमण था। इस व्यक्ति के संक्रमण होने के बाद से ही उत्तर प्रदेश सरकार पूरी अलर्ट पर है। इस नए वेरिएंट को लेकर केंद्र सरकार भी पूरी तरह से चिंतित और पूरी अलर्ट पर है।

केंद्र ने 8 राज्यों को लिखी चिट्ठी, जताया चिंता

8 राज्यों को शुक्रवार के दिन केंद्र की तरफ से चिट्ठी लिख कर कहा गया कि जिन जिन जिलों में डेल्टा प्लस वेरिएंट के मामले सामने आ रहे हैं उनको तुरंत कंटेनमेंट जोन बना दिया जाए। इस नए वेरिएंट का मामला जैसे ही उत्तर प्रदेश में आया मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तत्काल निर्देश देते हैं कि प्रदेश में आने वाले हर यात्री को आरटी पीसीआर टेस्ट किया जाए तथा उसकी जिनोम सीक्वेंसिंग के लिए सैंपल को भेजा जाए।

यह भी पढ़े : 15 अगस्त तक कराए जाएंगे विश्वविद्यालयों की परीक्षाएं, प्रदेश के सभी कुलपतियों को उपमुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा ने दिया निर्देश।

केजीएमयू और बीएचयू में जिनोम सीक्वेंसिंग की हो व्यवस्था

योगी आदित्यनाथ ने आदेश दिया कि केजीएमयू और बीएचयू में जिनोम सीक्वेंसिंग की व्यवस्था कराए जाएं। स्वास्थ्य मंत्रालय के द्वारा जारी आंकड़ों के हिसाब से डेल्टा प्लस के अब तक 12 प्रदेशों में करीब 50 मामले सामने आ चुके हैं। 50 मामलों में सबसे ज्यादा 20 मामले महाराष्ट्र के हैं जबकि नौ मामले तमिलनाडु और मध्य प्रदेश से 7 मामले सामने आए हैं।

यह भी पढ़े :  यूपी :18 साल से अधिक उम्र वालों को आज से लखनऊ में लगेगी स्पूतनिक V वैक्सीन ,ऐसे कराएं रजिस्ट्रेशन।

नए वेरिएंट डेल्टा प्लस को लेकर सरकारें बेहद चिंतित

कोरोना वायरस के नए वेरिएंट को लेकर सरकारें बेहद चिंतित है। सरकारों के चिंतित होने का कारण यह है कि ये नया वेरिएंट बाकी अन्य वैरिएंट की तुलना में ज्यादा खतरनाक है। इसके फैलने की दर ज्यादा है। बहुत से एक्सपर्ट ने सरकार को यह बताया है कि अगर देश में कोरोना की तीसरी लहर आती है तो इसके पीछे का बड़ा कारण यह डेल्टा प्लस वेरिएंट हो सकता है।

यह भी पढ़े : केजरीवाल ने की जरूरत से 4 गुना ज्यादा ऑक्सीजन की डिमांड, सुप्रीम कोर्ट की रिपोर्ट में हुआ खुलासा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *