S-400 की ताकत देख America ने कहा-India- China और Palkistan से निपट लेगा |

0
73

पूरी दुनिया में अमेरिका जिससे सबसे ज्यादा परेशान है तो वह है रूम और रूस को निपटाने के लिए अमेरिका थिंक टैंक पूरी ताकत के साथ जुड़ा हुआ है लेकिन रूस को निपटाने में एक रोड़ा है और वह रोड है भारती। इसी रोड़ा को हटाने और उसको सबक सिखाने के लिए अमेरिका ने पूरी ताकत झोंक दी है। इसके लिए अमेरिका खतरनाक से खतरनाक हथियार, बजट कई और समझौते कों लेकर भारत के सामने गिड़गिड़ा रहा है कि भाई दूज का साथ छोड़कर हमारे साथ आ जाओ हम बहुत कुछ देंगे लेकिन भारत है कि टस से मस नहीं हो रहा है। उसी तरह अगर आपको याद हों तों ज़ब भारत रूस S-400 को खरीद रहा था तों अमेरिका इस समझौता को रोकने और रद्द कराने अपना मिसाइल सिस्टम बेचने को लेकर भारत पर दबाव बनाया। धमकी दी और बुरा अंजाम भुगतने की बात कही लेकिन भारत ने अपनी बात पर कायम रहते हो रूस सें S-400 कों खरीद लिया और अमेरिका देखता रह गया अब उसी S-400 कों लेकर अमेरिकी रक्षा मंत्रालय क़े थिंक टैंक नें एक बड़ी बात कही है। खबरों की मानें तो अमेरिकी रक्षा मंत्रालय पेंटागन के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा है कि पाकिस्तान और चीन से खतरे के मद्देनजर भारत S-400 तैनात कर रहा है। जों किसी भी वक्त दोनों देशों को निपटा पड़ता है।

अमेरिका ने माना भारत की ताकत का लोहा

भारत को पिछले साल दिसंबर से रूस सें इस S-400 मिसाइल प्रणाली मिलने लगी है इस वजह से अमेरिका थिंक टैंक यें बात बता रहा है। जानकारी देते चले कि अक्टूबर 2021 तक भारत की सेना अपने जमीनी और समुद्री सीमाओं की रक्षा के लिए उन्नत किस्म की निगरानी प्रणाली या खरीदने पर विचार कर रहा था। बेरियर ने कहा दिसंबर में भारत को रूसी इस S-400 मिसाइल प्रणाली की प्रारंभिक खेत प्राप्त हुई और पाकिस्तान-चीन से खतरे को देखते हुए भारत जून 2022 तक इस प्रणाली के संचालन की योजना बना रहा है। भारत अपने हाइपरसोनिक्स बैलेस्टिक क्रूज़ पर्चे पात्रों का निर्माण कर रहा है साथी हवाई रक्षा मिसाइल क्षमताओं को विकसित कर रहा है। 2021 से लगातार अनेक परीक्षण कर रहा है अंतरिक्ष में भारत के उपग्रहों की संख्या बढ़ रही है और वह अंतरिक्ष में अपना प्रभाव बढ़ा रहा है। भारत और पाकिस्तान के सैनिकों के बीच कभी कभार छोटी-मोटी झड़पे होती रहती हैं लेकिन पाकिस्तान के आतंकवादियों द्वारा भारत में किसी बड़े आतंकवादी घटना को अंजाम देने की सूरत में भारत बड़ी सैन्य कार्रवाई कर सकता है।

चीन-पाकिस्तान क़े खिलाफ भारत तैनात कर सकता है S-400

भारत और चीन के बीच संबंध वास्तविक नियंत्रण रेखा पर दोनों देशों के सैनिकों के बीच 2020 में हुई हिंसक झड़पों के बाद से तनावपूर्ण बने हुए। दोनों देश एक दूसरे को मात देने के लिए खतरनाक से खतरनाक हथियार और टैंक-तोप खड़ा कर दिया है. इसके साथ ही साथ भारत की ताकत में S-400 बड़ा रोल है इससे अब लगता है कि भारत चीन और पाकिस्तान से टक्कर ले सकता है और उनको निपटा भी सकता है। तो आप समझ सकते हैं कि कैसे अमेरिकी थिंक टैंक नें अमेरिकी कांग्रेस के सामने भारत की ताकत का बखान किया है और यही बात बताई। देखना होगा कि अब आगे क्या होता है और कब तक भारत S-400 कों तैनात करता है।