T20 world cup 2021 से पहले मंडराया फिक्सिंग का साया, 2 खिलाड़ियों पर आईसीसी ने लगाया 8 साल का प्रतिबंध।

0
45
T20 world cup 2021

आईसीसी द्वारा आयोजित होने वाले T20 world cup 2021 जो भारत की जगह संयुक्त अरब अमीरात में खेला जाएगा। इसके शुरू होने से पहले एक बुरी खबर आई है। T20 world cup 2021 UAE में होगा इस फैसले के बाद यूएई कुछ वक्त के लिए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट का हॉटस्पॉट बनने वाला है। यूएई में क्रिकेट के लिहाज से आईसीसी T20 वर्ल्ड कप का वहां कराया जाना एक अच्छी खबर है लेकिन यूएई के कुछ क्रिकेटरों की ओर से शर्मनाक हरकत करने का मामला सामने आया है।

यह भी पढ़े : Cricket Special : क्रिकेट से किसी एक टीम की बादशाहत खत्म होने के पीछे की क्या है वजह ?

यूएई के पूर्व कप्तान मोहम्मद नवीद समेत दो खिलाड़ियों पर मैच फिक्सिंग और भ्रष्टाचार से जुड़े मामलों की वजह से आईसीसी पहले ही प्रतिबंध लगा चुका है। अब यूएई के ही अन्य दो क्रिकेटरों पर भी इस घटिया हरकत के कारण आईसीसी ने प्रतिबंध लगा दिया।

T20 world cup 2020 के क्वालीफायर में फिक्सिंग की कोशिश

गुरुवार यानी 1 जुलाई 2021 को आईसीसी ने यूएई के दो खिलाड़ी आमिर हयात और अशफाक अहमद को आईसीसी T20 world cup 2020 के क्वालीफायर में फिक्सिंग की कोशिश में शामिल होने का दोषी करार देते हुए 8 साल का प्रतिबंध लगा दिया है। आईसीसी के अनुसार ये दोनों खिलाड़ी 2019 में भारतीय सट्टेबाज के साथ मिलकर अपने देश में हो रहे टी-20 विश्व कप क्वालीफाइंग मैच के दौरान मुकाबले को फिक्स करने का प्रयास कर रहे थे। इन दोनों खिलाड़ियों पर यह सजा पिछले साल 13 सितंबर 2020 से लागू होगी।

सट्टेबाज ने करीब 15,000 दिरहम दिया था

आईसीसी के द्वारा जारी किए गए एक प्रेस रिलीज में बताया गया कि ये दोनों दोषी खिलाड़ी भारतीय सट्टेबाज से मैच फिक्स करने के लिए बड़ी रकम लिए थे। इन दोनों को ही सट्टेबाज ने करीब 15,000 दिरहम यानी कि लगभग 4083 डॉलर दिया गया था। आईसीसी ने अपनी प्रेस रिलीज में बताया यह प्रतिबंध 13 सितंबर 2020 से लागू किया जाएगा जब वे यूएई में आईसीसी पुरुष टी 20 विश्व कप 2019 से जुड़े भ्रष्ट आचरण के लिए अस्थाई रूप से निलंबित हो गए थे।

यह भी पढ़े : बसीर अहमद बाबा कि कहानी : Hizbul आतंकी बता गुजरात ATS ने 11 साल जेल में रखा, अब जाकर साबित हुआ निर्दोष, बरी होकर लौटा कश्मीर।

आईसीसी पिछले कुछ वक्त से भ्रष्टाचार को दूर करने के अभियान में काफी तेजी से काम कर रहा है और कई खिलाड़ियों और पूर्व खिलाड़ियों को दोषी करार देते हुए सजा भी दी है। इन दोनों खिलाड़ियों पर पांच आरोपों का दोषी पाया गया है। आईसीसी के अनुसार भ्रष्टाचार संबंधी संपर्क का खुलासा करने में नाकाम रहाना, अनुचित तरीके से मैच के नतीजे को प्रभावित करना और 750 अमेरिकी डालर से अधिक का तोहफा स्वीकार करना मुख्य आरोप है।

यह भी पढ़े : Doctors Day Special : Doctors Day पर पीएम मोदी का संदेश, इस साल 2 गुना किया स्वास्थ्य बजट।

दोनों खिलाड़ी पाकिस्तानी मूल के हैं

जिन दो खिलाड़ियों पर आईसीसी ने प्रतिबंध लगाया है वे दोनों खिलाड़ी पाकिस्तानी मूल के हैं। हयात तेज गेंदबाज हैं जबकि अहमद बल्लेबाज है। आईसीसी के फैसले में यह भी जिक्र हुआ कि हयात और अहमद आईसीसी द्वारा आयोजित क्रमश चार और तीन भ्रष्टाचार रोधी शैक्षणिक सत्र में हिस्सा लिया। आईसीसी के आरोप पत्र में इस सट्टेबाज की पहचान मिस्टर Y के रूप में की गई है।

यह भी पढ़े : T20 Word Cup 2021 पर ICC का बड़ा ऐलान, यहां जाने कहा और कब खेला जाएगा मैच !