Lakhimpur Kheri में किसानों ने किसी भी कांग्रेस नेता को मंच पर आने की नहीं दी इजाजत, प्रियंका गाँधी आज गयी थी लखमीपुर, 4 किसानों की हुई थी मौत, जाने किसान क्यों कांग्रेस से है ख़फ़ा?

2
196
Lakhimpur Kheri

उत्तर प्रदेश में 3 अक्टूबर को लखीमपुर खीरी (Lakhimpur Kheri) में एक घटना हुई थी। इस घटना को लेकर उत्तर प्रदेश में राजनीति अपने चरम पर पहुंच चुका है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी आज दूसरी बार लखीमपुर खीरी (Lakhimpur Kheri) की हिंसक घटना में मारे गए किसानों की अंतिम अरदास में शामिल होने के लिए गई थी।

यह भी पढ़े: Electricity Crisis In Country : कोयले की कमी पर कोयला मंत्रालय ने दिया बड़ा बयान, अमित शाह ने की अहम बैठक, जाने क्या निकला निष्कर्ष।

Lakhimpur Kheri में मारे गए पत्रकार के लिए आयोजित थी कार्यक्रम

आपको बता दें लखीमपुर खीरी में किसानों के अलावा एक पत्रकार रमन कश्यप की भी मौत हुई थी जिनको श्रद्धांजलि देने के लिए भी एक कार्यक्रम आयोजित की गयी थी। लखीमपुर खीरी (Lakhimpur Kheri) के तिकुनिया में कांग्रेस के महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के साथ राज्यसभा सांसद दीपेंद्र सिंह हुड्डा, यूपी कांग्रेस के प्रमुख अजय कुमार लल्लू साथ में मौजूद थे। जबकि अकाली दल से मनजिंदर सिंह सिरसा भी साथ रहे।

Lakhimpur Kheri

कांग्रेस के किसी नेता को मंच पर आने की नहीं दी इजाजत

सभी नेताओं को संयुक्त किसान मोर्चा ने आभार जताया लेकिन इनमें से किसी भी कांग्रेसी नेता को मंच पर नहीं आने दिया। आपको बता दें कि लखीमपुर खीरी (Lakhimpur Kheri) में हुई हिंसा के मामले में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा को पूछताछ के लिए बुलाया गया था जिसके बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया।

यह भी पढ़े: Priyanka Gandhi Vadra In Varanasi : किसान न्याय रैली को सम्बोधित करते हुए पीएम मोदी और सीएम योगी पर बोला हमला, लखीमपुर मामले पर योगी सरकार पर उठाये सवाल, राजस्थान में हुई दलित की हत्या पर नहीं खुली जुबान, राजनीती में भूली इंसानियत ?

Lakhimpur Kheri मामले में आरोपी बनाये गए आशीष मिश्रा की हो चुकी है गिरफ्तारी

वरिष्ठ अभियोजन अधिकारी एसपी यादव ने सोमवार को जानकारी देते हुए कहा कि अदालत में आशीष मिश्रा को 14 दिन की पुलिस हिरासत में भेजने के लिए शनिवार को अदालत में अर्जी लगाई गई थी और इस पर सुनवाई हुई है। सुनवाई के दौरान अदालत ने आशीष मिश्रा को 12 से 15 अक्टूबर तक पुलिस हिरासत में भेजने का आदेश दिया है। एसपी यादव ने बताया कि आशीष मिश्रा का मेडिकल टेस्ट कराया जाएगा और पूछताछ के नाम पर पुलिस उन्हें प्रताड़ित नहीं करेगी। पूछताछ के दौरान उसके अधिवक्ता मौजूद रहेंगे।

यह भी पढ़े: Fungus से किया जाएगा कैंसर का इलाज, फफूंद में पाए जाने वाले ख़ास केमिकल का होगा इस्तेमाल, हिमालय की यह है खास फफूंद की खासियत क्या है?

12 घंटे पूछताछ के बाद Lakhimpur Kheri मामले में आशीष मिश्रा

आपको बता दें 3 अक्टूबर को उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी (Lakhimpur Kheri) में हुई घटना के बाद एसआईटी ने आशीष मिश्रा को शनिवार के दिन करीब 12 घंटे पूछताछ की। पूछताछ में सहयोग न करने का आरोप लगाते हुए आशीष मिश्रा को गिरफ्तार किया जाता है और आधी रात के बाद पुलिस ने उसे अदालत में पेश किया जहां उसे न्यायिक हिरासत में लखीमपुर जिला जेल भेज दिया गया।

Lakhimpur Kheri हिंसा में 4 किसान समेत 9 की हुई थी मौत

इस आईटी टीम का नेतृत्व करने वाले पुलिस उपमहानिरीक्षक उपेंद्र अग्रवाल ने शनिवार को आशीष मिश्रा की गिरफ्तारी के बाद पत्रकारों को बताया आशीष मिश्रा ने पुलिस के प्रश्नों का सही जवाब नहीं दिया और जांच में सहयोग नहीं कर रहे थे। पुलिस ने आशीष मिश्रा के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि वे सही बात नहीं बताना चाह रहे थे और इसलिए उन्हें गिरफ्तार किया गया है। आपको बता दें लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा के दौरान 4 किसानों समेत नौ लोगों की मौत हो गई थी।

यह भी पढ़े:  Post Covid Complications : कोरोना से ठीक होने के एक साल बाद भी लोग झेल रहे है दिक्क़ते, कोरोना से ठीक होने 35 हफ्ते बाद भी दिख रहे लक्षण, अमेरिका की एक रिपोर्ट ने किया दावा।