Nirmala Sitharaman ने डीजल पेट्रोल की बढ़ती कीमतों पर दिया बड़ा बयान, केंद्र और राज्य सरकारों को मिलकर सोचने की जरूरत, कांग्रेस पर भी बोला हमला।

मंगलवार को देश में ईंधन की कीमतें अब तक के सबसे उच्चतम स्तर पर पहुंच गई। इसी बीच केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने देश में बढ़ते पेट्रोलियम उत्पादों की कीमतों पर कहा कि ये कीमतें अंतरराष्ट्रीय तेल दरों पर निर्भर करते हैं। निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने कहा कि पेट्रोलियम उत्पादों की कीमतों में बढ़ोतरी से निपटने के लिए केंद्र और राज्य सरकारों को अपने बढ़ती लागत के मुद्दे पर एक साथ मिलकर संभालने की जरूरत है।

यह भी पढ़े: UP Free Laptop Yojana: फ्री लैपटॉप योजना का फॉर्म कैसे भरे ? कितने परसेंट वालों को मिलेगा इस योजना लाभ? प्रदेश सरकार के मंत्री ने दिया बड़ा बयान, नर्शिंग के छात्रों को भी किया जा सकता है शामिल।

छत्तीसगढ़ भाजपा कार्यालय में एक कार्यक्रम को कर रही थी सम्बोधित

निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने रायपुर में छत्तीसगढ़ भाजपा कार्यालय कुशाभाऊ ठाकरे परिसर में एक संवाददाता सम्मेलन के दौरान बताया कि देश में पेट्रोलियम उत्पादन की कीमतें वैश्विक बाजार में मौजूद दरों पर निर्भर होती है। केंद्र और राज्य दोनों को ईंधन के मुद्दे एक साथ संभालना होगा।

Nirmala Sitharaman

99 फीसदी डीजल पेट्रोल विदेशों से होते है निर्यात -Nirmala Sitharaman

Nirmala Sitharaman ने बताया कि देश को अपनी जरूरतों का लगभग 99 फ़ीसदी पेट्रोल और डीजल का आयात करना पड़ता है। निर्मला सीतारमण ने बताया डीजल और पेट्रोल पर वैट सिर्फ केंद्र सरकार ही नहीं लगाती। उन्होंने कहा कि हम 100 लीटर डीजल या पेट्रोल का इस्तेमाल करते हैं तो इसमें से 99 लीटर विदेश से आयात होता है। इसी की वजह से विदेशों में तेल की कीमतों के हिसाब से अपने यहां तेल की कीमत तय होती हैं।

वित्त मंत्री ने माना की तेलों की बढ़ती कीमतों ने आम नागरिक पर बढ़ाया है अतिरिक्त बोझ

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने कहा कि जब तेल बाजार के दाम बदलने लगते हैं तो हमारे यहां भी तेल के दामों में बढ़ोतरी होने लगती हैं। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार टैक्स के रूप में एक निश्चित राशि लगाती है न कि मूल्य वर्धित कर राज्य सरकारें वैट लगा देती हैं। निर्मला सीतारमण ने इस बात को माना कि तेलों की बढ़ती कीमतों ने निश्चित रूप से आम नागरिकों पर एक अतिरिक्त बोझ बढ़ा दिया। निर्मला सीतारमण संवाददाता सम्मेलन के दौरान का कि तेलों के बढ़ते दामों पर राज्य और केंद्र सरकारों को मिलकर काम करने की जरूरत है।

यह भी पढ़े: Lakhimpur Kheri Voilence : लखीमपुर से निकली चिंगारी लखनऊ तक पहुंची, कई दिग्गज नेताओं को पुलिस ने किया अरेस्ट तो कुछ हाउस अरेस्ट किये गए, अब तक 8 की मौत, पढ़े पूरी अपडेट।

Nirmala Sitharaman ने कांग्रेस पर साधा निशाना

इस कार्यक्रम के दौरान निर्मला सीतारमण ने विपक्षी पार्टी कांग्रेस पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के डीएनए में ही लूट है। उन्होंने कहा कि यह प्रवृत्ति उनके शासन के दौरान ही सामने आई थी। निर्मला सीतारमण ने केंद्र की संपत्ति मुद्रीकरण पाइपलाइन योजना की आलोचना के लिए सोनिया गांधी और कांग्रेस की आलोचना भी की।

कांग्रेस के डीएनए में शामिल है लूट – Nirmala Sitharaman

निर्मला सीतारमण नरेंद्र मोदी सरकार की तारीफ करते हुए कहा कि हमारी सरकार विकास सिद्धांत लोगों को सशक्त बनाने पर आधारित है न कि केवल उन्हें अधिकार प्रदान करने पर। निर्मला सीतारमण ने कहा कि कांग्रेस की मानसिकता ही ऐसी है और उनके दिमाग से लूट की बात जाती ही नहीं क्योंकि उनके शासनकाल में सिर्फ लूट ही हुआ था।

यह भी पढ़े: Lakhimpur Kheri : बीजेपी नेता की गाडी ने आंदोलन कर रहे किसानों को कुचला, 2 की मौत 1 बुरी तरह से घायल, केशव प्रसाद का होना था कार्यकम।

Nirmala Sitharaman ने कुछ उदाहरण देते हुए कहा कि कांग्रेस के शासनकाल में स्पेक्ट्रम में लूट, खदानों में लूट, पानी में लूट और कांग्रेस के लोगों ने हर जगह अपने शासनकाल के दौरान लूट मचाई रखी थी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के डीएनए में लूट शब्द शामिल है और उनके डीएनए में इतना लूट शब्द शामिल हो चुका है कि वह कुछ और सोचते ही नहीं।

यह भी पढ़े: Shahrukh Khan’s son Aryan Khan को NCB ने क्रूज पर हो रहे ड्रग्स पार्टी के मामले में कर रही है पूछताछ, अन्य 8 लोग भी NCB के हिरासत में, कभी भी हो सकती है गिरफ्तारी, जाने और कौन कौन है शामिल।

4 thoughts on “Nirmala Sitharaman ने डीजल पेट्रोल की बढ़ती कीमतों पर दिया बड़ा बयान, केंद्र और राज्य सरकारों को मिलकर सोचने की जरूरत, कांग्रेस पर भी बोला हमला।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *