Karnataka Hijab विवाद से उत्तर प्रदेश के चुनाव का क्या है कनेक्शन ? UP Election 2022 में वोट के लिए क्या कर्नाटक में हिजाब विवाद कराया गया ?

0
242
Karnataka Hijab

कर्नाटक में हिजाब (Karnataka Hijab) बवाल को लेकर कई तरह के सवाल खड़े हो रहे हैं। कुछ राजनीति के पंडितों का कहना है कि कर्नाटक में उठा हिजाब (Karnataka Hijab) का विवाद उत्तर प्रदेश के चुनाव से जुड़ा हो सकता है। लेकिन आप यह सोच रहे होंगे कि कर्नाटक के इस हिजाब के विवाद से उत्तर प्रदेश के चुनाव का क्या कनेक्शन हो सकता है। यह सुन कर बड़ा अजीब लगता है कि यूपी चुनाव में वोट के लिए क्या कर्नाटक में हिजाब विवाद को कराया गया था? इस पूरी आशंका की हकीकत सामने आने लगी है।

यह भी पढ़े: Kanpur Murder Case : कानपुर में 10 साल के मासूम की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट ने डॉक्टरों के भी रोंगटे खड़े कर दिए।

गूगल पर सबसे ज्यादा Karnataka Hijab विवाद हुआ है सर्च

आपको बता दें कि बुधवार को मतदान से 1 दिन पहले गूगल सर्च में तेलंगाना और तमिलनाडु का यह विवाद सबसे ज्यादा सर्च में पाया गया था। उत्तर प्रदेश में बुधवार को पहले चरण के मतदान शुरू होने से ठीक 1 दिन पहले हिजाब विवाद जो कर्नाटक में हुआ उसको सबसे ज्यादा उत्तर प्रदेश में ही सर्च किया गया था। इस हिजाब विवाद में मलाला युसूफजई और यूएई की प्रिंसेस भी शामिल हो गई हैं।

Karnataka Hijab

प्रियांका गांधी ने भी Karnataka Hijab विवाद पर किया है ट्वीट

बीते दिन कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी भी लखनऊ में मौजूद थी, जहां उन्होंने कांग्रेस का घोषणा पत्र उत्तर प्रदेश के चुनाव के लिए जारी किया।प्रियंका गांधी इस मौके पर हिजाब को लेकर एक चर्चा में उलझ गई। कर्नाटक में हुए इसे हिजाब मामले (Karnataka Hijab) पर प्रियंका गांधी ने भी ट्विटर पर लिखा था कि लड़की की पसंद है कि वह बिकनी पहने, वह घूंघट डालें या जींस पहने वह उसकी पसंद है। इस बयान के बाद से भारतीय जनता पार्टी प्रियंका गांधी पर हमले कर रही है। 

यह भी पढ़े: Bengaluru के एक विला में सेवानिवृत्त वायुसेना अधिकारी और उनकी पत्नी मिले मृत , नौकर को किया गया गिरफ्तार।

ट्विटर पर प्रियंका गांधी ने जो कुछ लिखा था उसके जरिए एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान पत्रकार ने सवाल पूछा, जिस पर प्रियंका गांधी भड़क गई। प्रियंका ने जवाब में साफ – साफ बोला कि हिजाब पहनना संविधानिक अधिकार है।

Karnataka Hijab विवाद यूपी की राजनीति में हो रहा है शामिल

आपको बता दें कि आजकल सोशल मीडिया के जरिए करोड़ों लोगों तक पहुंचना कोई बहुत बड़ी बात नहीं होती। इस तरह के मुद्दों को देखकर मन बदलना भी स्वभाविक हो जाता है। इसलिए ऐसा कहा जा रहा है कि संभवतः यह किसी मकसद के जरिए कर्नाटक में हिजाब विवाद (Karnataka Hijab) को कराया गया होगा। 1 हफ्ते से जारी यह हिजाब विवाद धीरे-धीरे उत्तर प्रदेश की राजनीति में शामिल होने लगा है।

यह भी पढ़े: ENG vs WI: वेस्टइंडीज दौरे के लिए इंग्लैंड टीम का बड़ा फैसला इन दिग्गजों को किया टीम से बाहर?

वही ओवैसी भी उत्तर प्रदेश के संभल में हिजाब वाली घटना को लेकर बार-बार अपने सम्मेलनों में जिक्र कर रहे हैं और हिजाब की घटना को लेकर वोट मांग रहे हैं। यह बात यहीं नहीं रुकती, जमीयत उलेमा ए हिंद के सदर मौलाना महमूद मदनी भी इस हिजाब वाली घटना को लेकर एक बड़ा बयान देते हैं। मदनी ने कहा कि छात्रा बीवी मुस्कान खान को ₹500000 का इनाम देंगे।

यूपी के मंत्री मोहसिन रजा ने दिया बयान

उत्तर प्रदेश के चुनाव में इस कर्नाटक की हिजाब की घटना को चारे की तरह से लोगों के बीच में फैलाया जा रहा है। उत्तर प्रदेश के कई जगह ऐसे बयान सामने आ रहे हैं जिसमें कर्नाटक के हिजाब विवाद के जरिए वोट मांगे जा रहे हैं। उत्तर प्रदेश सरकार के एक मंत्री जिनका नाम मोहसिन रजा है उनका कहना है कि, यह हमारे देश के संस्कार हैं कि हम लोग माताओं, बहनों से नजर नीचे करके बात करते हैं।

हिजाब पर बयान देते हुए कहा कि हमारी संस्कृति है और जो हिजाब की बात कर रहे हैं वह बेहिसाब लोग हैं। उन्होंने कहा कि वे लोग पहले अपनी संस्कृति को समझें और देखें फिर हिजाब पर बात करने की आवश्यकता उन्हें नहीं पड़ेगी।

यह भी पढ़े: UP Pre-Board exam 2022: UP Board छात्रों के लिए बड़ी खबर?