New Covid Guidelines बनाकर भारत सरकार ने ब्रिटेन सरकार को दिखाया आईना, ब्रिटेन के कौन से फैसले पर भारत ने अपनाया कड़ा रुख जिससे ब्रिटेन सरकार बैकफुट आएगी।

आपने हिंदी में एक कहावत बहुत सुनी होगी जो जैसा बोएगा वैसा काटेगा। यह कहावत हम इसलिए आपको बता रहे हैं क्योंकि भारत सरकार ने यूके नागरिकों के लिए एक नया नियम (New Covid Guidelines) जारी किया है। भारत सरकार ने ब्रिटेन सरकार की तरह से नियमों को भारत में भी लागू किया है।

यह भी पढ़े: Supreme Court ने कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों को लगाई फटकार, राष्ट्रीय राज्यमार्ग को बंद कर आम लोगों को परेशान करना उचित नहीं, सरकार जल्द निकाले समाधान।

UK से आने वाले नागरिकों के लिए भारत सरकार ने बनाई New Covid Guidelines

सूत्रों के हवाले से आई खबर के मुताबिक अब भारत सरकार भी यूके से आने वाले नागरिकों को कोरोना से जुड़े कुछ जरूरी गाइडलाइंस (New Covid Guidelines) जारी करने वाली है। खबरों के मुताबिक यह नया गाइडलाइन (New Covid Guidelines) 4 अक्टूबर से लागू कर दिया जाएगा। भारत सरकार ने इस नियम में बताया है कि यूके से भारत आने वाले यूके नागरिकों के लिए भारत पहुंचने पर अपना वैक्सीनेशन रिपोर्ट तो बताना ही होगा इसके साथ कुछ और महत्वपूर्ण रेगुलेशन से भी गुजरना पड़ेगा।

New Covid Guidelines

भारत से निकलने के 72 घंटे पहले की होनी चाहिए Covid 19 नेगेटिव रिपोर्ट

इस नए गाइडलाइंस (New Covid Guidelines) के मुताबिक यूके से भारत के लिए रवाना होने से 72 घंटे पहले की rt-pcr रिपोर्ट लेकर आना जरूरी होगा। भारत पहुंचने पर फिर से उनका आरटी पीसीआर टेस्ट कराया जाएगा जो अनिवार्य है। उनका भारत पहुंचने के 8 दिनों बाद ये टेस्ट की जाएगी और इसके साथ ही उन्हें पृथकवास में भी रहना अनिवार्य कर दिया गया है। इसका मतलब यह है कि यूके से भारत आने वाले लोगों को कम से कम 10 दिनों के लिए पृथक वास में रहना अनिवार्य हो गया है।

यह भी पढ़े: UP Free Laptop Yojana 2021 जाने क्या है? इस योजना का लाभ छात्रों को कैसे मिलेगा? इन दस्तावेजों की पड़ेगी जरूरत, 5 आसान स्टेप्स से करे ऑनलाइन आवेदन।

भारत सरकार को क्यों बनानी पड़ी New Covid Guidelines ?

भारत सरकार को यह कदम इसलिए उठाना पड़ा है क्योंकि ब्रिटिश सरकार द्वारा भारतीय वैक्सीन को मंजूरी नहीं दी गई है जिसकी वजह से भारत सरकार इस तरह के कदम उठाने पर मजबूर हो गई है। हालांकि इससे पहले भारत की सख्ती के बाद ब्रिटेन ने भारत की कोरोना वैक्सीन को मंजूरी तो दी लेकिन इसके साथ ही यह भी बताया कि भारत से ब्रिटेन आने वाले भारतीय नागरिकों को वैक्सीन लगवाने के बावजूद भी पृथक वास में रहना अनिवार्य होगा।

ब्रिटेन ने भारत से आने वाले नागरिकों को 10 दिन पृथकवास में रहना किया था अनिवार्य

भारत से आने वाले यात्रियों के लिए अप्रैल में ब्रिटेन ने रेड लिस्ट कोविड-19 यात्रा प्रतिबंध शुरू कर दिया था। प्रतिबंधों के अंतर्गत भारत से ब्रिटेन आने पर रोक लगा दी गई थी। नई दिल्ली से अपने देश लौट रहे ब्रिटिश तथा अन्य नागरिकों के लिए होटल में कम से कम 10 दिनों का पृथक वास में रहना अनिवार्य किया गया था लेकिन भारत सरकार ने इस पर सख्ती दिखाई तो ब्रिटेन ने अपने यात्रा प्रतिबंधों में ढील देते हुए भारत को रेड से अंबर सूची में डाल दिया।

यह भी पढ़े: 1 October से बैंकिंग सिस्टम समेत हो रहे है 6 बड़े बदलाव, इन सभी बदलावों का असर सीधे आपकी जेब पर होने वाला है, जाने इन बदलावों के बारे में।

भारत सरकार ने New Covid Guidelines बनाकर किया है पलटवार

भारत में टीका लगवाने वाले यात्रियों को अब अपने घर या पसंद के किसी भी जगह पर 10 दिन तक पृथक वास में रहना होगा। इसके साथ जो भी यात्री भारत से रवाना होंगे उसके 3 दिन पहले की कोरोना जांच करानी अनिवार्य होगी। साथ ही जब भारत से यात्रा कर ब्रिटेन पहुंचने पर दो टेस्ट कराए जाएंगे जिसमें पहला पहुंचने के दूसरे दिन जबकि दूसरा पहुंचने के आठवें दिन कराया जाएगा। अब इस फैसले पर भारत सरकार ने पलटवार करते हुए यूके से भारत आने वाले नागरिकों के लिए भी कुछ इसी तरह का नियम New Covid Guidelines लागू कर दिया है। इसीलिए हमने आपको शुरू में बताया था कि जो जैसा बोयेगा वैसा काटेगा।

यह भी पढ़े: PM Digital Health Mission: देशवाशियों को पीएम मोदी ने दिया बड़ा तोहफा, जाने ये डिजिटल हेल्थ कार्ड क्या है? इन आसान 8 स्टेप्स से बनाये अपना हेल्थ कार्ड।

2 thoughts on “New Covid Guidelines बनाकर भारत सरकार ने ब्रिटेन सरकार को दिखाया आईना, ब्रिटेन के कौन से फैसले पर भारत ने अपनाया कड़ा रुख जिससे ब्रिटेन सरकार बैकफुट आएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *