मन की बात :मिल्खा सिंह का मोदी से किया वादा जो अधूरा रह गया, जाने आज के मन की बात कि मुख्य बाते।

0
80
मन की बात मोदी

पीएम मोदी ने पूछें 3 सवाल

आज सुबह 11बजे पीएम मोदी अपने मासिक रेडियो कार्यक्रम मन की बात को संबोधित कर रहे थे। इस बार के कार्यक्रम में मोदी का अंदाज बदला बदला लगा। कार्यक्रम कि शुरुआत करते ही मोदी ने बोला कि अक्सर मन की बात में आपके सवालों कि बाढ़ होती है लेकिन आज मैं आप सभी से कुछ सवाल पूछूंगा।

यह भी पढ़े : बरेली: शख्स बिना मास्क पहने पहुंचा बैंक, गार्ड ने मार दी गोली?

पीएम मोदी ने एक के बाद एक 3 सवाल पूछें। मोदी ने पहला सवाल किया कि ओलंपिक में इंडिविजुअल गोल्ड जीतने वाला पहला भारतीय कौन था ? मोदी ने दूसरा सवाल पूछा कि कौन से खेल में भारत ने अब तक सबसे ज्यादा मेडल जीते हैं ? और आखिरी सवाल में मोदी ने पूछा कि किस खिलाड़ी ने सबसे ज्यादा पदक जीते हैं? 

मिल्खा सिंह को दी श्रद्धांजली

मोदी ने आज के कार्यक्रम में टोक्यो ओलंपिक के बहाने मिल्खा सिंह को भी याद करते हुए श्रद्धांजलि दी। मोदी ने आज के कार्यक्रम में एक वाक्या को याद करते हुए बताया कि महान एथलीट मिल्खा सिंह जब अस्पताल में भर्ती थे तब मेरी उनसे बात हुई थी। मैने उनसे कहा था 1964 के टोक्यो ओलंपिक में आपने भारत का प्रतिनिधित्व किया था।

यह भी पढ़े : महाराष्ट्र : अनिल देशमुख को ईडी ने भेजा नोटिस, 11:00 बजे तक पेश होने का दिया आदेश।

खिलाड़ियों का मनोबल बढ़ाने को किया था वादा जो अधूरा रहा

इस बार भी भारत के खिलाड़ी टोक्यो ओलंपिक ने हिस्सा लेने के लिए जा रहे है तो मैं चाहता हूं आप इस मौके पर उन सभी खिलाड़ियों का मनोबल बढ़ाए। आप अपने संदेश से उन सभी खिलाड़ियों को प्रेरित करे। मिल्खा सिंह के बारे मोदी ने बताया कि वो खेल के प्रति इतना समर्पित थे कि वे बीमारी के हालत में भी इसके लिए हामी भर दी। लेकिन दुर्भाग्य से नियत को कुछ और ही मंजूर था।

यह भी पढ़े : उत्तर प्रदेश में भी कोरोना के नए वेरिएंट डेल्टा प्लस का मंडराया खतरा , योगी ने दिए सख़्त आदेश।

अधिकतर खिलाड़ी गांव और कस्बों से आते है – पीएम मोदी

मोदी ने आगे बताया कि हमारे देश के अधिकतर खिलाड़ी छोटे गावों और कस्बों से आते है। मोदी ने कहा जब टैलेंट, डेडिकेशन, डेटर्मिनेशन और स्पोर्ट्समैन स्पिरिट एकसाथ मिलते हैं तब जाकर कोई खिलाड़ी चैम्पियन बनता है।

यह भी पढ़े : 15 अगस्त तक कराए जाएंगे विश्वविद्यालयों की परीक्षाएं, प्रदेश के सभी कुलपतियों को उपमुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा ने दिया निर्देश।

हर खिलाड़ी का अपना संघर्ष है

टोक्यो ओलंपिक में हिस्सा लेने जा रहे हर एक खिलाड़ी का अपना संघर्ष है,कई सालों की मेहनत है ऐसे में जाने अंजाने में इन खिलाड़ियों पर किसी तरह का कोई दबाव नहीं बनाना है। हमे इन खिलाड़ियों का खुले मन से मनोबल बढ़ाना है।

यह भी पढ़े : केजरीवाल ने की जरूरत से 4 गुना ज्यादा ऑक्सीजन की डिमांड, सुप्रीम कोर्ट की रिपोर्ट में हुआ खुलासा।

कोरोना से बचने के बताएं 2 उपाय

कोरोना पर पीएम मोदी ने कहा कि इस महामारी से बचने के दो ही तरीके है। पहला है वैक्सीन लगवाएं और दूसरा है मास्क पहने और अन्य प्रोटोकाल का पालन करे। पीएम मोदी ने ग्रामीणों से बात करते हुए ये अनुरोध करने कि कोशिश किया की जब भी आपका नंबर आए वैक्सीन जरूर लगवाएं। किसी भी तरह की भ्रांति ने पढ़ने की जरूरत नही है।

यह भी पढ़े : JioPhone Next के जाने टॉप फीचर्स के बारे में, दुनिया का सबसे सस्ता स्मार्ट फ़ोन जल्द आएगा बाजार में।

पानी बचने की अपील

मन की बात में पानी बचने को लेकर पीएम मोदी ने उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल कि शिक्षक भारती कि चर्चा करते हुए उनकी तारीफ की। उन्होंने ने कहा की गांव के खेतों में मेड़ बनाए और पानी को बचाएं।

यह भी पढ़े :  उत्तर प्रदेश : 1 जुलाई से यूपी में खुलने जा रहे हैं स्कूल कॉलेज।

आयुर्वेद पर भी हुई चर्चा

पीएम मोदी ने आयुर्वेद कि चर्चा करते हुए उत्तराखंड के पारितोष के गिलोय को लेकर पत्र और मध्य प्रदेश के राम लोटन कुशवाहा का जिक्र भी किया।

यह भी पढ़े : तो ये थी वजह : A.R. रहमान का गाना, SONY कि शिकायत और IT मिनिस्टर रविशंकर प्रसाद का ब्लॉक हुआ ट्विटर अकाउंट।

1 जुलाई को मनाए डॉक्टर्स डे

पीएम मोदी ने 1 जुलाई को डॉक्टर्स डे को मनाने की भी अपील की। पीएम मोदी ने कहा कोरोना महामारी में हमारी सेवा में लगे सभी डॉक्टर्स का सम्मान करना चाहिए। मोदी ने सभी डॉक्टर्स की सराहना की। 

ई बुक को लेकर पीएम मोदी ने तमिलनाडु के गुरुप्रसाद का पत्र भी पढ़ा। पीएम मोदी ने कहा की वे तमिल संस्कृत के बड़े प्रशंसक है और वो इस बुक को नमो एप पर डालेंगे।

यह भी पढ़े : भारत में लांच हुआ 5000 mAh बैटरी के साथ Realme C11 2021 का बेहतरीन फीचर से लैस नया स्मार्टफोन।

मोदी का इंडिया फर्स्ट का मंत्र

पीएम मोदी ने इंडिया फर्स्ट का मंत्र दिया और कहा कि हमारे हर फैसले का आधार यही होना चाहिए। पीएम मोदी ने युवा लेखकों कि तारीफ भी की।

यह भी पढ़े : 5 मिनट में जम्मू के टेक्निकल एयरपोर्ट पर हुए दो धमाके, 2 लोग हुए घायल।

युवाओं की हुई तारीफ

पीएम मोदी ने तारीफ में कहा की 20वी और 21वी सदी के युवा भी 19वी सदी के स्वतंत्रता संग्राम को लेकर जानकारी जुटा रहे हैं, लिख रहे हैं। पीएम मोदी ने अमृत महोत्सव में सभी देशवासियों को जुड़ने की अपील भी की।

यह भी पढ़े : क्रिकेट की दुनिया के नए चोकर्स? WTC में टीम इंडिया की हार के बाद विराट कोहली की कैप्टेन्सी पर क्रिकेट एक्सपर्टस ने क्या कहा !