COVID 19 IN CHILDREN : बच्चों में कोरोना को लेकर WHO की आई चौकाने वाली रिपोर्ट, बच्चों में खतरा कम या ज्यादा? WHO की चीफ साइंटिस्ट ने क्या बताया ?

1
37
COVID 19 IN CHILDREN

विश्व स्वास्थ्य संगठन की एक रिपोर्ट सामने आई है। इस रिपोर्ट में बताया गया है कि कोरोना के बच्चों (COVID 19 IN CHILDREN) में गंभीर मामले कम देखे गए हैं और बच्चों के रिकवरी रेट तेज रही है। विश्व स्वास्थ्य संगठन की चीफ साइंटिस्ट सौम्या स्वामीनाथन COVID पर वर्चुअल सेशन के दौरान बताया कि बच्चों में कोरोना (COVID 19 IN CHILDREN) के गंभीर मामले कम मिले और उनकी रिकवरी भी बेहतर है और तेज हो रही है।

यह भी पढ़े: PM MODI UNGA SPEECH की 8 मुख्य बातें, जाने आतंकवाद, अफ़ग़ानिस्तान, वैक्सीन, पर क्या बोले पीएम मोदी ?

कोरोना अभी खत्म नहीं हुआ है – WHO की चीफ साइंटिस्ट

सौम्य स्वामीनाथन ने बताया कि कोरोना अभी खत्म नहीं हुआ है। पिछले 2 सालों में कोरोना ने जितना परेशान किया अब इतना बुरा असर नहीं आने वाला है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के चीफ साइंटिस्ट सौम्या स्वामीनाथन ने शुक्रवार को महामारी के बाद प्राथमिकता और युवा भारत क्या चाहता है इस विषय पर अपना संबोधन दे रही थी।

कम्युनिटी स्प्रेड के दौरान बच्चों को खतरा (COVID 19 IN CHILDREN) – WHO

अपने संबोधन के दौरान उन्होंने बच्चों से जुड़े सवालों के जवाब भी दिए। स्वामीनाथन ने बताया कि बच्चों के संक्रमण (COVID 19 IN CHILDREN) से बचाने के लिए लोग बात कर रहे हैं क्योंकि 18 से अधिक उम्र वाले लोगों को फिलहाल वैक्सीन दी जा रही है। ऐसी स्थिति में अगर आपके आसपास कम उम्र के बच्चे रहते हैं जिन्हें वैक्सीन नहीं लगा हुआ है तो उस दौरान कम्युनिटी में जब वायरस फैलेगा तो उनमें संक्रमण का खतरा बना रहेगा।

यह भी पढ़े: SNEHA DUBEY कौन है जिसने UN में पाकिस्तान के पीएम IMRAN KHAN को दिया है करारा जवाब, स्नेहा दुबे ने पाक को क्या दिया जवाब जिससे इमरान हो गए बेचैन।

बच्चों के लिए बहुत जल्द उपलब्ध होगी वैक्सीन – WHO

चीफ साइंटिस्ट सौम्या स्वामीनाथन ने बताया कि बच्चे अगर संक्रमित COVID 19 से होते भी हैं तो संभावना है कि अच्छी तरह से स्वस्थ हो जाते हैं। बच्चों के वैक्सीनेशन के सवाल पर उन्होंने कहा देश में जल्द ही बच्चों के लिए टीके उपलब्ध होंगे। ड्रग कंट्रोलर ZYDUS CANDILA को 12 साल से अधिक उम्र वाले बच्चों के अलावा 18 साल और उससे अधिक उम्र वाले लोगों के लिए मंजूरी दे दी गई है।

COVID 19 IN CHILDREN

हफ्ते भर के अंदर ठीक हो जाते है बच्चों में कोरोना के संक्रमण (COVID 19 IN CHILDREN)

बच्चों में COVID के बीच कनेक्शन को लेकर किंग्स कॉलेज लंदन के शोधकर्ताओं शोध कर रहे हैं। उसकी एक रिपोर्ट बताती है कि कोरोने वाले अधिकतर बच्चे हफ्ते भर में ठीक हो जाते हैं लेकिन कुछ ही बच्चे हैं जिन्हें लॉन्ग कोविड समस्या से गुजरना पड़ रहा है। इस रिसर्च के मुताबिक हर 20 में से 1 से भी कम बच्चों में रोग के लक्षण लंबे वक्त तक मिल रहा है। बच्चों में कोरोना का संक्रमण (COVID 19 IN CHILDREN) होने के बाद लक्षण 4 हफ्ते से अधिक समय के लिए दिखाई देते हैं और 8 हफ्ते के अंदर बच्चे पूरी तरह से रिकवर हो जाते हैं।

यह भी पढ़े: JEE NEET EXAM SCAM को लेकर सीबीआई ने NTA पर उठाये सवाल, परीक्षा करने को लेकर NTA की बढ़ी मुसीबत।

कोरोना होने के बाद ये लक्षण बच्चों में देते है दिखाई

कोरोना होने के बाद बच्चों (COVID 19 IN CHILDREN) में सबसे ज्यादा लक्षण दिखाई देते हैं उनमें सिर दर्द, थकान गले में खराश और गंध की पहचान न कर पाना शामिल है। चाइल्ड एंड अडोलेसेंट हेल्थ जर्नल में छपी रिसर्च बताती है कि करीब 4.4% बच्चे ही 1 महीने से अधिक समय तक कोरोना के लक्षण से जूझ रहे हैं। किंग्स कॉलेज के प्रोफेसर एम्मा डंकन ने बताया कि संक्रमण के बाद बच्चों में दिमाग से जुड़ी समस्या जैसे दौरे पड़ना, बेचैनी इस तरह की कोई भी लक्षण नहीं पाए गए हैं। यह सभी बातें यह साबित करती हैं कि बच्चों में लॉन्ग कोविड के मामले दुर्लभ होते हैं।

यह भी पढ़े: UP SCHOLARSHIP के नियमों में हुआ बड़ा बदलाव, अब सिर्फ इन छात्रों को ही सरकार देंगी छात्रवृत्ति, इस बात का रखे ध्यान वरना हो जायेगे अपात्र।